रेलवे स्टेशन से सीधे बॉलीवुड पहुंचने वालीं रानू मंडल की ये रही पूरी कहानी

16 September 2019 05:53 PM
Hindi
  • रेलवे स्टेशन से सीधे बॉलीवुड पहुंचने वालीं रानू मंडल की ये रही पूरी कहानी

इंटरनेट के माध्यम से आज हम अपना टैलेंट उन लोगों तक पहुंचाने में सफल हो रहे हैं, जहां तक कभी हमारी पहुंच थी ही नहीं.

नई दिल्ली: सोशल मीडिया उन लोगों के लिए वरदान के रूप में सामने आया है, जो अपना हुनर सबको दिखाना चाहते हैं. आज के दौर में यह एक ऐसा प्लेटफॉर्म बन गया है, जहां से कोई भी अपना हुनर दिखा सकता है. इंटरनेट के माध्यम से आज हम अपना टैलेंट उन लोगों तक पहुंचाने में सफल हो रहे हैं, जहां तक कभी हमारी पहुंच थी ही नहीं, क्योंकि आज के दौर में ऐसे बहुत ही कम लोग होंगे जो इंटरनेट यूज नहीं कर रहे होंगे. ऐसे में एक नाम रानू मंडल (Ranu Mondal) का भी सामने आया, जिनके एक वीडियो ने सोशल मीडिया पर हंगामा मचा दिया.

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर इन दिनों रानू मंडल का नाम छाया हुआ है. कल तक रेलवे स्टेशन पर गाना गाकर अपनी जिंदगी गुजर बसर करने वालीं रानू आज इंटरनेट स्टार बन चुकी हैं. स्वर कोकिला लता मंगेशकर की आवाज में गाने रेलवे स्टेशन पर गाकर गुजारा करने वाली रानू मारिया मंडल आज किसी पहचान की मोहताज नहीं हैं. उनकी कहानी लोगों के लिए किसी प्रेरणा की तरह काम कर रही है और आज हर जगह लोग उनके बारे में पढ़ने और उनके जीवन के बारे में जानने के लिए बेताब है. ऐसे में आज हम आपको रानू की जिंदगी से जुड़ी कई बाते बताने जा रहे हैं.

बता दें कि बीते दिनों रानू मंडल एक रेलवे स्टेशन पर अपनी सुरीली आवाज़ में लता मंगेश्कर का फैमस गाना 'एक प्यार का नगमा..' गा रही थीं. तभी एक समाज सेवक अतींद्र चक्रवर्ती की उन पर नजर पड़ी और फिर उन्होंने उनका वीडियो बना दिया. अतींद्र यहां अपने दोस्‍त के साथ आए थे और रानू का गाना उन्‍हें काफी पसंद आया. अतींद्र ही थे, जिन्‍होंने सबसे पहले रानू का यह वीडियो बना कर फेसबुक पर पोस्‍ट किया. अतींद्र को शायद यह अंदाजा भी नहीं था कि उनकी यह छोटी सी कोशिश रानू की जिंदगी के सफर को इस कदर सुहाना बना देगी. इन दिनों रानू जहां भी जा रही हैं, अतींद्र उनके साथ ही नजर आ रहे हैं.

बस फिर क्या था रानू की किस्मत का पहिया घूमा और सीधे बॉलीवुड पहुंच गया. उसके बाद रानू एक टीवी रियलिटी शो में पहुंची. जहां शो के होस्ट ने रानू से पूछा कि वह क्यों स्टेशन पर बैठकर गा रही थीं. इसके जवाब में रानू ने जो बात बताई उसे सुनकर आपकी आंखें भी नम हो जाएंगी. रानू ने कहा, 'मैं रेलवे स्टेशन में इसलिए गा रही थी, क्योंकि मेरे पास रहने को घर नहीं है, मैं पेट भरने के लिए गाती थी. गाना सुनकर कोई बिस्किट दे देता या कोई खाना या रुपये. ऐसे ही मेरी जिंदगी गुजरती थी.'


Loading...
Advertisement