युवराज के संन्यास पर BCCI को याद आई नेटवेस्ट ट्रॉफी, शेयर की दादा के साथ खास VIDEO

11 June 2019 09:29 AM
Hindi
  • युवराज के संन्यास पर BCCI को याद आई नेटवेस्ट ट्रॉफी, शेयर की दादा के साथ खास VIDEO
  • युवराज के संन्यास पर BCCI को याद आई नेटवेस्ट ट्रॉफी, शेयर की दादा के साथ खास VIDEO

युवराज सिंह को अगर किसी एक मैच के लिए सबसे अधिक याद किया जाता है तो वह नेटवेस्ट सीरीज (NatWest Series final) का फाइनल है.

Advertisement

नई दिल्ली: स्टार क्रिकेटर युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने 17 साल के लंबे और कामयाब करियर पर सोमवार को विराम लगा दिया. भारत के इस लाडले क्रिकेटर ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लिया. 37 साल के युवराज भारतीय क्रिकेट में योद्धा की तरह खेले. उनके नाम एक ओवर में छह छक्के लगाने से लेकर विश्व कप में मैन ऑफ द सीरीज का खिताब जीतने की उपलब्धियां हैं. लेकिन यदि उन्हें किसी एक मैच के लिए सबसे अधिक याद किया जाता है तो वह नेटवेस्ट सीरीज (NatWest Series final) का फाइनल है. शायद यही कारण है कि बीसीसीआई (BCCI) ने युवराज को याद करते हुए इसी मैच का वीडियो शेयर किया है.

युवराज सिंह ने भारत के लिए पहला मैच सन 2000 में खेला था. उन्होंने 17 साल में भारत के लिए 402 मैच खेले. इनमें 40 टेस्ट, 304 वनडे और 58 टी20 मैच खेले. हालांकि, पिछले दो साल से उन्हें भारत के लिए खेलने का मौका नहीं मिला था और उनके संन्यास का कारण भी यही रहा.
युवराज ने भारत के लिए आखिरी बार 30 जून 2017 को वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था. इसके बाद जब उन्हें टीम से बाहर किया गया तो उन्होंने कहा कि वे वर्ल्ड कप की टीम में जगह बनाने की कोशिश करेंगे. वे ऐसा नहीं कर सके और तभी यह तय हो गया था कि वे जल्द ही संन्यास ले लेंगे.

युवराज सिंह ने सोमवार को संन्यास का ऐलान किया. इसके कुछ देर बाद भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने अपने एक पुराने ट्वीट को रीट्वीट किया. इसमें एक वीडियो है. यह वीडियो नेटवेस्ट सीरीज का फाइनल जीतने का है. वीडियो में सिर्फ एक गेंद दिखाया गया है और इसके बाद भारत की जीत का जश्न दिखाया गया है, जिसमें युवराज सिंह दौड़कर मोहम्मद कैफ को गले लगा लेते हैं और कप्तान सौरव गांगुली शर्ट उतारकर लहराते हैं. युवराज सिंह जब संन्यास की घोषणा करने आए तो उनके साथ मां शबनम सिंह और पत्नी हेजल कीच भी साथ थीं.
13 जुलाई 2002 को खेले गए इस मैच में इंग्लैंड ने भारत को 326 रन का लक्ष्य दिया था. तब तक किसी भी टीम ने इतना बड़ा लक्ष्य हासिल नहीं किया था. इस तरह भारत ने ना सिर्फ लक्ष्य हासिल किया, बल्कि विश्व रिकॉर्ड भी बनाया. भारत ने लक्ष्य का पीछा करते हुए 146 रन पर पांच विकेट गंवा दिए थे. इसके बाद मोहम्मद कैफ (87*) और युवराज सिंह (69) ने भारत को जीत के करीब पहुंचाया. युवी 267 के स्कोर पर आउट हो गए थे. इसके बाद मोहम्मद कैफ ने हरभजन सिंह (15) और जहीर खान (4*) के साथ मिलकर टीम को जीत दिलाई थी.

July 13, 2002 - #TeamIndia won the NatWest series final #ThisDayThatYear @MohammadKaif @ImZaheer @YUVSTRONG12 @SGanguly99. That epic moment - Etched forever!pic.twitter.com/jKeFXEmCgk

— BCCI (@BCCI) July 13, 2018


Advertisement